Advertisement

ग्रामीण भंडारण योजना 2021 – Werehouse Subsidy Yojana

Advertisement

ग्रामीण भंडारण योजना 2021 – Werehouse Subsidy Yojana, Gove. Scheme, ग्रामीण भंडारण योजना ऑनलाइन आवेंदन प्रक्रिया

ग्रामीण भंडारण योजना

देश में सभी प्रकार की याेजनाओं का संचालन हो रहा हैं। किसानो के लिए अलग से योजना चलाई हुई हैं। ऐसे ही श्रमिक व देंश के अन्‍य आम नागरिको के लिए भी अलग – अलग योजनाओं के माध्‍यम से लाभान्वित किया जा रहा हैं। आज हम ऐसी ही एक योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसके माध्‍यम से लाभार्थी को लाभ पहुचाया जाएगा। देंश में किसान बहुत बडी संख्‍या में निवास करते हैं। लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब हैं।  उनके पास इतनी पूँजी भी नही हैं की वो अपना कोई रोजगार खोल सके। रोजगार के लिए रूपए देने के लिए सरकार ने नई – नई योजना चलाई हुई हैं। हम इनमें से एक योजना की बात करेगे जिसका नाम हैं ” ग्रामीण भंडारण योजना”/ ”Werehouse Subsidy Yojana”

Advertisement

इस योजना के तहत सरकार आपको कैंसे लाभ प्रदान करेगे ये सब हम आपको इस पोस्‍ट के माध्‍यम से बताएगे।

Werehouse Subsidy Yojana

जैंसा कि हम सभी जानते हैं कि किसान के पास इतना पैंसा नही होता हैं कि वो अपनी फसल को सुरक्षित रखने के उपाय कर सके। सरकार ने किसानो के लिए योजना की शुरूआत की हैं। जिसके तहत किसानो को फसल को सुरक्षित रखने के लिए भंडारग्रह बनाने के लिए ऋण प्रदान किया जाएगा। इस भंडारग्रह का निर्माण किसान स्‍वयं भी कर सकते हैं। या फिर कोई भी वो संस्‍था जाेकि किसानो से जुडी हुई हैं। इस भंडारग्रह के निर्माण के लिए सरकार सब्सिडी पर लोन प्रदान करेगी। यह लोन लाभार्थी को 11 वर्ष के भीतर चुकाना होगा। इसके तहत बनाए गए भंडारग्रह के लिए क्षमता भी निर्धारित की गई हैं।

 Werehouse Subsidy Yojana

इसकी क्षमता क्‍या रखी गई हैं  व इस योजना के तहत सब्सिडी किस आधार पर मिलेगी ये सब हम आपको इस आर्टिकल में बताएगे।

Advertisement

ग्रामीण भंडारण योजना की क्षमता क्‍या हैं

इस योजना के तहत बनाए गए भंडारण की क्षमता निर्धारित की गई हैं। किसान स्‍वयं भी इस योजना के तहत ग्रामीण भंडारण का निर्माण कर सकता हैं लेकिन इस योजना के तहत मिलने वाला लाभ लेने के लिए इसमें निर्धारित क्षमताओं का ध्‍यान रखना पडेंगा। इसके लिए योजना के तहत मिलने वाले लाभ के लिए गोदाम की क्षमता कम से कम 100 टन होना जरूरी हैं और अधिकत क्षमता 30,000 टन की हैं। आपको  इस योजना का लाभ लेने के लिए ये क्षमता का होना जरूरी हैं। लेकिन गाेदाम की क्षमता इससे कम (100 टन से) या इससे अधिक (30000 टन) होने पर इस योजना का लाभ नही मिलेगा।

अब हम आपको यहा बताएगे कि आपको इस योजना के तहत सब्सिडी कैंसे मिलेगी।

Werehouse Subsidy Yojana का उद्देश्‍य

इस योजना को शुरू करने के अनेक उद्देश्‍य हैं जो निम्‍नलिखित हैं :-

Advertisement
  • कृषि उत्‍पादो की बाजार में विक्रयता में सुधार के लिए ग्रेडिग, मानकीकरण और गुणवत्‍ता नियंत्रण को बढावा देना।
  • भंडारण में रखी कृषि वस्तुओं के संबंध में परक्राम्य रसीदों की राष्ट्रीय व्यवस्था शुरू कर देश में कृषि विपणन आधारभूत सुविधाओं को मजबूत करना
  • कृषि उत्‍पादों के लिए वैंज्ञानिक भंडारण की व्‍यवस्‍था करना।
  • देंश में कृषि क्षेंत्र में निवेंश के गिरावट की प्रवृति की दियाा को मोडना।

योजना में सब्सिडी मिलने का आधार

इस योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी का आधार निम्‍नलिखित बातो को ध्‍यान में रखते हुए तय किया जाता हैं:-

  • गोदाम कैंसे प्‍लेटफाॅर्म पर बनाया गया हैं।
  • उसकी भीतरी सडक के आधार पर
  • चार दीवारी
  • ग्रेंडिग
  • पैंकेजिग
  • अतिरिकत जल निकासी की सुविधा
  • गुणवत्‍ता प्रमाण
  • गोदाम में लगाई गई लागत पूँजी
  • अन्‍य सुविधाए जाकि एक गोदाम में होनी चाहिए।

Werehouse Subsidy Yojana के अन्‍तर्गत आने वाले बैंक

  • स्‍टेट कोपरेटिव बैंक
  • रीजनल रूरल बैंक
  • कमर्शियल बेंक
  • एग्रीकल्‍चर डवलपमेंन्‍ट फाइनेंस कमेटी
  • नॉर्थ ईस्‍टर्न डवलपमेंन्‍ट फाइनेंस कोरपोरेशन
  • स्‍टेट काेपरेटिव एग्रीकल्‍चर एण्‍ड रूरल डवलपमेंन्‍ट बैंक
  • अर्बन कोपरेटिव बैंक

Werehouse Subsidy Yojana Online Apply

जो भी इच्‍छुक इस योजना के लिए आवेदन करना चाहता हैं उसे सबसे पहले अधिकारिक साइट पर जाना होगा।

  • अधिकारिक साइट पर जाने के लिए यहा क्लिक करे।
  • यहा आपको Apply Now के बटन पर क्लिक करना हैं।
  • यहा आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलेगा।
  • जिसे आपको सावधानीपूर्वक भरना हैं।
  • उसमें मांगे गए सभी दस्‍तावेंज लगाने हें।
  • फिर आपको submit के Option पर क्लिक करना हैं।

इस प्रकार आपका आवेदन फॉर्म पूरा हो जाएगा।

सोलर चरखा योंजना 2021

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *