प्रधानमंत्री वय वंदना योजना – Pm vay vandana yojana – LIC किया बडा बदलाव

0

Pm vay vandana yojana – LIC किया बडा बदलाव, जानिए बुजुर्गों को अब हर महीने कितनी पेंशन मिलेगी, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना

 Pm vay vandana yojana
Pm vay vandana yojana

vay vandana yojana : प्रधानमंत्री वय वंदन योजना के तहत बुजुर्गों को LIC के तहत पेंशन प्रदान की जाती है।

इस योजना के लिए अनुदान राशि केन्‍द्र सरकार द्वारा दी जाती है। इस योजना में केन्‍द्र सरकार द्वारा बदलाव किया गया है। सरकार ने 60 वर्ष या इससे अधिक उम्र के लोगों की दरो में संशोधन किया है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना सीनियर सिटीजन को दस साल तक पेंशन प्रदान करती है। इस योजना के संचालन का एकाधिकार LIC कंपनी के पास है। LIC से इस योजना काे ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है। हम इसमेें हुए बदलाव के बारे में जानेंगे।

Pm vay vandana yojana

यदि बुढे मां बाप के बुढापे के लिए पेंशन योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आप प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का लाभ लेकर अपने मां बाप की वृद्धावस्‍था के लिए आर्थिक सहायता उपलब्‍ध करा सकते हैं। इस योजना में आप एक मुश्‍त राशि भरकर प्रतिमाह आप 10,000 रूपए मासिक पेंशन ले सकते हैं।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना LIC द्वारा किये गये बदलाव

Pm vay vandana yojana की अवधि दस साल है। जिसमे पहले वर्ष 7.40% का रिर्टन दिया जाएगा। यह संशोधित योजना सभी पात्र व्‍यक्तियों के लिए उपलब्‍ध होगी। सरकार ने इस योजना में संशोधन कर 60 वर्ष या इससे अधिक उम्र वाले लोगों की ब्‍याज दर में बदलाव किया है। इस योजना के तहत दस साल तक लाभा‍र्थी को पेंशन मिलती है। अब इसे LIC ने तीन वर्ष तक बढा दिया है। यह अब मार्च 2023 तक उपलब्‍ध रहेगी। इसे LIC से खरीदा भी सकते हैं। इसे ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनो प्रकार से खरीद सकेंगे।

दोबारा बढाई गई योजना की तारिख

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना केन्‍द्र सरकार द्वारा शुरू की गई। जिसका लाभ भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) द्वारा खरिदा जा सकता है। जिसे लाभार्थी अपनी इच्‍छा अनुसार ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनो प्रकार से ले सकता है। इस योजना को 2018-19 के बजट में केन्‍द्र सरकार ने 31 मार्च 2020 तक बढाया था। इसके साथ ही पेंशन की अधिकतम सीमा को बढाकर 15 लाख रुपये किया गया था।

Pm vay vandana yojana योजना के लाभ क्‍या है

  • इस योजना का लाभ लाभार्थी को दस वर्ष तक दिया जाता है।
  • यदि लाभार्थी दस वर्ष लाभ लेने के बाद भी लाभ लेना चाहता है तो उसे दोबारा जुडना होगा।
  • लाभार्थी योजना के पूरे दस साल तक जीवित है तो उसे अंत में एरिएर भी दिया जाता है।
  • यदि लाभार्थी की मृत्‍यु हो जाती है तो योजना की रकम लाभार्थी को वापस कर दी जाती है।
  • अंत में योजना का टेन्‍योर पूरा होने पर यदि पेंशनधारी जीवित है।
  • तो उसे पोलिसी की रकम के साथ अंतिम पेंशन इंसटाॅलमेंट तक की जाएगी।

60 की उम्र और 10 हजार पेंशन

Pm vay vandana yojana का लाभ लेने के लिए लाभा‍र्थी की उम्र 60 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए। इसके तहत लाभ लेने की अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नही है। इस योजना में प्रतिमाह पेंशन पाने के लिए 1000 रुपये दिया जाएगा। इसकी अधिकतम पेंशन देने की सीमा 10 हजार रुपये है। यह लाभार्थी को निर्धारित करना होगा कि उसे कितने समय के लिए पेंशन चाहिए। यदि लाभार्थी कम से कम 1000 रुपये महीना पेंशन चाहता है तो आपको इस योजना के लिए 1.5 लाख रुपये खर्च करने होंगे। और यदि लाभार्थी दस हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन लेना चाहता है तो उसे इसके लिए 15 लाख रुपये की राशि खर्च करनी होगी।

इस प्रकार की सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए आप हमारी साइट पर देख सकते हैं।

सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्‍त करने के लिए यहा देंखे

यह भी पढें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here