Kusum Yojana – जनजाति कृषको को सोलर पंप के लिए मिलेगा 11.85 करोड का अनुदान

By | December 24, 2020

Kusum Yojana – जनजाति कृषको को सोलर पंप के लिए मिलेगा 11.85 करोड का अनुदान, कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन

Kusum Yojana : इसके तहत पहले 5 एचपी के पम्‍प दिए जाते थे लेकिन अब इस योजना के तहत 7.5 एचपी के पम्‍प दिए जा रहे हैं। इस प्रकार राजस्‍थान देंश का अग्रणी राज्‍य बन गया हैं। इसके तहत यह भी प्रावधान हैं कि किसान को 10 एचपी तक के पम्‍प भी मिल सकते हैं। जिन किसानो के पास सिचाई के लिए विघुत कनेक्‍शन नही हैं उन्‍हें 3 एचपी से लेकर 7.5 एचपी तक के सौर ऊर्जा संयत्र प्रदान किए जाएगे।

कुसुम योजन नया अपडेट

इस योजना के तहत 2020-21 के बजट में 4500 जनजाति कृषको को 2 कम्‍पोनेट के माध्‍यम से लाभ प्रदान किया जाएगा। जिसमें लगभग 11.85 करोड रूपए खर्च होगे। इसमें कम्‍पोनेट बी में 1500 जनजाति कृषको को सोलर उर्जा पंप संयत्र लगाने के लिए 45 हजार रूपए का अनुदान मिलेगा। जिसके लिए कुल राशि 6.75 करोड रूपए तय किए गए हैं।

इसके अलावा C कम्‍पोनेट मे 3000 हजार जनजाति कृषको को लाभ यिा जाएगा जिसमें प्रत्‍येक किसान को 17 हजार रूपए का अनुदान दिया जाएगा। जिसमे कुल 5.10 करोड रूपए खर्च होगे।

कुसुम योजना

इस योजना से किसानो को बिजली उत्‍पादन की सुविधा उपलब्‍ध होगी। इससे बिजली कमी को दूर किया जा सकेगा। साथ ही किसान इससे अधिक बिजली उत्‍पादन कर बिजली को बेंच भी सकेगे। जिससे किसानो को मुनाफा होगा। इससे किसानो को खेती के साथ – साथ अतिरिक्‍त आमदनी भी मिल सकेगी। इस योजना क‍ो चलाकर सरकार बंजर पडी जमीन को उपयोग में लाना चाहती हैं। सरकार ने इस योजना के तहत 20 लाख किसानो को सोलर पंप उपलब्‍ध कराने को लक्ष्‍य रखा हैं। इसके तहत किसानो को स्‍टैंड अलोन पंप के साथ – साथ ग्रिड की बची हुई उर्जा को बेचने में सरकार मदद करेगी। इस योजना का शुभारम्‍भ 2018 -19 के बजट में ही वित्‍त मंत्री अरूण जेटली द्वारा कर दिया गया था। लेकिन अब वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस योजना को जारी रखने की घोंषणा की हैं।

Kusum Yojana

इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो इसके बारे में नीचे तक पढे ताकि आप इसके फायदे व आवेदन के बारे में अच्‍छें से जान सके।

Kusum Yojana के तहत सोलर पम्‍प पर दी जाने वाली सब्सिडी

इस योजना के द्वारा किसान को स्‍टेंण्‍ड अलोन सौर कृषि पम्‍प की लागत या बेंच मार्क या निविदा लागत जो भी कम हो वो प्रदान की जाएगी। इस योजना में 30 प्रतिशत केन्‍द्र सरकार व 30 प्रतिशत संबंधित राज्‍य सरकार तथा 40 प्रतिशत राशि किसान अर्थात लाभार्थी द्वारा वहन की जाती हैं। लाथार्भी द्वारा दी जाने वाली राशि का केवल 10 प्रतिशत हिस्‍सा ही शुरूआत में देना पडता हैं,क्‍योंकि 40 प्रतिशत हिस्‍सा बैंक ऋण के रूप में प्रदान करता हैं। कुल राशि का 60 प्रतिशत हिस्‍सा सरकार वहन करती हैं।

Kusum Yojana से किसान बनेगा अन्‍नदाता से ऊर्जादाता

कुसुम योजना से किसानो को अनेक लाभ होगे जो निम्‍नलिखित हैं :-

  • किसान अब इस योजना के माध्‍यम से अन्‍न के साथ – साथ ऊर्जा भी बेच सकेगा।
  • कुसुम योजना में किसानो को सोलर पंप प्रदान किए जाएगे।
  • इसका लाभ लगभग 20 लाख किसानो को दिया जाएगा।
  • इसके अतिरिक्‍त 15 लाख किसानो को ग्रिड से जुडे पंपो को सोलराइज करने में मदद की जाएगी।
  • कुसुम योजना से किसानो की मिट्टी के तेल पर निर्भरता खत्‍म हो जाएगी।
  • जिससे किसान सौर ऊर्जा को अपनाएगे।
  • इसके तहत किसानो की बंजर पडी भूमि को उपयोग मे लाया जा सकेगा।
  • सरकार बंजर भूमि पर सौर ऊर्जा का उत्‍पादन कर सकेगे।

कुसुम योजना क्‍या हैं

यह योजना किसानो को विकसित करने के लिए चलाई गई हैं।देंश में पानी की समस्‍या से किसानो को परेशानी का सामना करना पडता हैं। बारिश के असमान वितरण के कारण भी किसान की फसल नष्‍ट हो जाती हैं। इस योजना के तहत सरकार किसानो को सौलर पैनल लगावाएगी जिससे किसान सौर ऊर्जा का उत्‍पादन कर उससे निर्मित बिजली का उपयोग किसान खेती में कर सकेगा। इससे गांव में बिजली की आपूर्ति पूरी तरह से हो सकेगी। जिसका लाभ किसानो को होगा तथा इसमें ग्रिड की अधिशेष बिजली को किसान बेचकर अतिरिक्‍त लाभ कमा सकेगा। इसमें सरकार किसानो को लागत का 60 % भुगतान करेगी। यह भुगतान किसान को सब्सिडी के रूप में दिया जाएगा।

राजस्‍थान ज्ञान संकल्‍प पोर्टल

Kusum Yojana Important Facts

  • इसमें किसानो को उनके खाते में सब्सिडी की रकम प्रदान करेगी।
  • कुसुम योजना के तहत सौर ऊर्जा  का प्‍लांट किसान की बंजर भूमि पर लगाया जाएगा।
  • किसानो को बैंक द्वारा 30 प्रतिशत का लोन दिया जाएगा।
  • 60 प्रतिशत राशि केन्‍द्र सरकार द्वारा सब्सिडी पर दी जाएगी।
  • इसके अतिरिक्‍त 10 प्रतिशत राशि किसान द्वारा वहन की जाएगी।
  • किसान अपनी बंजर भूमि को उपयोग में ले सकेगे।
  • इस योजना के तहत किसानो की बंजर भूमि पर 10,000 मेगावाट के सोलर एनर्जी प्‍लांट लगाए जाएगे।
  • इससे 28 हजार मेगावाट बिजली का अतिरिक्‍त उत्‍पादन किया जा सकेगा।

इस योजना के मुख्‍य बिन्‍दु है जो कि एक किसान लाभार्थी को जानना जरूरी हैं।

आवेदन के लिए जरूरी दस्‍तावेंज

इसके लिए आवेदक को जरूरी दस्‍तावेजो की आवश्‍यकता होगी जो निम्‍नलिखित हैं:-

  • आय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक‍
  • लाभार्थी का स्‍थायी पता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्‍बर

ये सभी दस्‍तावेंज आवेदन के लिए लाभार्थी आवश्‍यक हैं।

Kusum Yojana Online Apply

किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो उसे इसके लिए पहले आवेदन करना होगा। इसके लिए उसे आवेदन करना होगा, आवदेन करने के लिए उसे विभाग की अधिकारिक साइट पर जाना होगा।

  • आप यहा से भी सीधें विभाग की अधिकारिक साइट पर जा सकते हैं।
  • यहा क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पेज खुलेगा।
  • जिस पर आपको पंजीकरण के लिए ” Online Registration” का Option दिखाई देंगा।
  • आपको इस Online Registration पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने पंजीकरण का फॉर्म खुल जाएगे।
  • इसमें पूछी गई सभी जानकारी सावधानीपूर्वक भरनी हैं।
  • जानकारी जैसे नाम, पता, आधार नम्‍बर, मोबाइल नम्‍बर आदि भरने होगे।
  • ये सभी जानकारी भरने के बाद आप फॉर्म को एक बार जांच ले ताकि इसमें कोई गलती नही हो।
  • इसके बाद आप Submit के बटन पर क्लिक करे।
  • आपका पंजीकरण पूरा होने पर चयनित लाभार्थियों को सौर पंप की 10प्रतिशत लागत दी जाएगी।
  • इसके लिए विभाग द्वारा आपूर्तिकर्ताओं को यह राशि जमा करने के लिए निर्देशित किया जाएगा।

इस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना

खाद्य सुरक्षा ऑनलाइन आवेदन राजस्‍थान

2 thoughts on “Kusum Yojana – जनजाति कृषको को सोलर पंप के लिए मिलेगा 11.85 करोड का अनुदान

  1. Mrityunjay Pandey

    PM kisan samman yojana me 2020 me labh nahin mil raha hai.

    Reply
  2. Pingback: एक राष्‍ट्र एक राशन कार्ड योजना - अब आगे भी मिलेगा गरीबो को फ्री राशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *