Advertisement

Kisan Train Yojana 2021 – किसान रेल से होगे ये बडें फायदे जाने क्‍या हैं किसान रेल

Advertisement

Kisan Train Yojana 2021 – किसान रेल से होगे ये बडें फायदे जाने क्‍या हैं किसान रेल, Kisan Latest Update

किसान रेल

यह कृषि विकास को बढाने की और महत्‍वपूर्ण कदम हैं। भारतीय रेल के इतिहास में बहुत बडी पहल हैं। देंश की पहली किसान रेल 7 अगस्‍त 2020 यानि शुक्रवार से शुरू कर दी गई हैं। इससे किसानो को बहुत अधिक फायदा होने वाला हैं। किसान को फसल या सब्‍जी,फल आदि को मंडियों तक पहुँचाने में साधनो के अभाव में काफी नुकसान उठाना पडता हैं। सरकार ने इस समस्‍या को दूर करने के लिए देंश की पहली किसान रेल की शुरूआत कर दी हैं। यह रेल महाराष्‍ट्र के देवलाली से बिहार के दानपुर तक चलेगी। इसके तहत किसान अपने फल व सब्जियों को आसानी से उचित स्‍थान पर पहुँचा सकेगे जिससे उनका माल खराब नही होगा। इनके साथ दूध, मांस व जल्‍दी खराब होनी वाली सामग्री भी इस रेल के द्वारा पहुँचाई जाएगी।

Advertisement

क्‍या फायदे होगे व इसका फायदा किसे मिलेंगा ये सब जानकारी हम आपको इस पोस्‍ट के माध्‍यम से देंगे।

Kisan Train Yojana 2021

भारत सरकार ने किसानो के लिए एक नई पहल की हैं। सरकार का 2022 तक किसानो की आय को दोगूना करना चाहती हैं।

Kisan Train Yojana 2020

इस रेल के माध्‍यम से किसान अपने जल्‍दी खराब होने वाली सब्‍जी व अन्‍य सामग्री को निर्धारत स्‍थान पर जल्‍द पहुँचा सकेगे। किसानो को साधन के अभाव में अपनी फसल को समय पर नही पहुँचाने से वो सड जाती हैं जिससे किसानो को नुकसान होता हैं। अब किसान इसके माध्‍यम से अपने माल को समय पर पहुँचा सकेगे। इससे किसानो के 50 प्रतिशत तक माल को बचाया जा सकता हैं। साधन के अभाव में सभी किसान पास की मंडी में ही पहुँचा पाते हैं जिससे मंडी में अधिक माल इक्‍ठ्ठा होने से कम दामो में बिकता हैं जिससे किसानो को नुकसान होता हैं क्‍योंकि उन्‍हें उनके माल का उचित दाम नही मिल पाता हैं।

Advertisement

किसानो को इसके लिए रजिस्‍ट्रेंशन करना होगा इसके लिए वे पहले भी रजिस्‍ट्रेंशन करा सकते हैं।

कहा से गुजरेगी ये किसान रेल

यह किसान रेल अभी केवल देंश के चार राज्‍यों से होकर गुजरेंगी। जिसमें बिहार, मध्‍यप्रदेंश, उत्‍तरप्रदेंश और महाराष्‍ट्र शामिल हैं।

रेल का पहला पडाव नासिक रोड इसके बाद मनमांड, भुस्‍सावल, बुरहानपुर, खंडवा इटारसी, जबलपुर, सतना, माणिकपुर, प्रयागराज चौकी और पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय स्‍टेंशन और बक्‍सर स्‍टेंशन से निकलकर अपने गन्‍तव्‍य तक पहुँचती हैं। सुत्रों के मुताबिक हर वर्ष काफी नुकसान हो जाता हैं। जिसमें दूध, मीट ,मछली, अंडा,अनाज, फल, सब्‍जी व अन्‍य उत्‍पादो की बात करे तो हर साल 40,811 करोड रूपए के खाद्य पदार्थ खराब हो जाते हैं।

Advertisement

Kisan Train Yojana 2021 उद्देश्‍य

इसके शुरू करने के पीछें निम्‍न उद्देश्‍य हैं :-

  • किसानो की उपज को नष्‍ट होने से बचाना।
  • कम किराए में उनकी उपज को पहुँचाना।
  • उन्‍हें उनकी फसल का उचित दाम मुहैंया कराना।
  • रेल में रफ्रीजरेटर लगे होने से खाद्य सामग्री को अधिक समय तक सुरक्षित रखकर उचित स्‍थान तक पहुँचाना।
  • किसानो की आय को दोगूना करना।
  • क्‍योंक‍ि जब फसल एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान पर जाएगी तो किसान को उचित दाम मिलेंगा।

जैंसे नासिक में प्‍याज की पैंदावार अधिक होती हैं जिससे वहा उन्‍हें उचित दाम नही मिल पाते हैं। लेकिन किसान रेल के माध्‍यम से प्‍याज को दूसरें राज्‍यों में पहुँचाया जा सकेगा।

Kisan Train Online Registration

जो भी किसान इस किसान रेल योजना के लिए रजिस्‍ट्रेंशन करवाना चाहता हैं उन्‍हें अभी इन्‍तजार करना होगा। क्‍योंकि अभी इसके लिए ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेंशन शुरू नही किए गए हैं। जेंसे ही इसके लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे जाएगे हम आपको पोस्‍ट के माध्‍यम से बताएगे।

राशन कार्ड को आधार से करे लिंक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *