Bal Shramik Vidya Yojana – शिक्षा के लिए मिलेंगे 1200 रूपए

0

Bal Shramik Vidya Yojana – शिक्षा के लिए मिलेंगे 1200 रूपए, UP Scheme 2020, उत्‍तरप्रदेंश योजना, श्रमिक बच्‍चों को पढने के लिए मिलेगे 1200 रूपए प्रतिमाह

Bal Shramik Vidya Yojana
Bal Shramik Vidya Yojana

बाल श्रमिक विद्या योजना : हमारे देंश में गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले लोग बहुत बडी संख्‍या में निवास करते हैं।

जिन्‍हे अपना परिवार पालने व उनका पेट भरने के भी लाले पडे होते हैं। ऐसी स्थिति में जीवनयापन करने वाले लोग अपने छोंटे – छोंटे बच्‍चों को भी किसी ना किसी काम में लगा देते हैं। वो उन्‍हें चाहकर भी नही पढा सकते हैं। ये तो आप सभी जानते हैं कि जब पेट भरने व रहने के लिए ही नही हैं वो लोग अपने बच्‍चों को पढाने में कैंसे समर्थ होगे। इन गरीब परिवारो के छोंटे बच्‍चें या तो भीख मागने लगते हैं या फिर वो किसी फैक्‍ट्री या दूकान पर कोई काम करने लगते हैं। इन छोटे बाल श्रमिको के लिए योगी आदित्‍य नाथ जी ने बाल श्रमिक योजना का शुभारम्‍भ किया हैं।

इस योजना के तहत इन छोटे बाल श्रमिको को शिक्षा के लिए सरकार 1200 रूपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।

Bal Shramik Vidya Yojana

योगी आदित्‍यनाथ जी ने ”बाल श्रमिक दिवस” के अवसर पर विडियों कॉन्‍फ्रेंसिग के माध्‍यम से इस योजना की शुरूआत की हैं।इस योजना का शुभारम्‍भ उत्‍तरप्रदेंश सरकार ने वहा के बाल श्रमिको को लाभ देने के लि।ए चलाई। इस योजना के तहत बाल श्रमिको को मजदूरी से हटाकर पढाई की ओर आकृषित करेगे। बाल श्रमिको को शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ताकि वो अपनी शिक्षा प्राप्‍त कर सकेगे। योजना के माध्‍यम से लडको को 1000 रूपए प्रतिमाह व लडकियों को 1200 रूपए प्रतिमाह छात्रवृति या आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा कक्षा 8,9 व 10वीं उतीर्ण करने वाले बच्‍चों को 6000 – 6000 रूपए की प्रोत्‍साहन राशि दी जाती हैं।

Bal Shramik Vidya Yojana में चयन किस प्रकार किया जाएगा

इस योजना का लाभ लेने के लिए कुछ मानदंड निर्धारित किए हैं जिनके अनुसार जो लाभार्थी इन मानदंडो को पूरा करेगा उसे ही इस योजना के तहत लाभ मिल सकेगा।

लाभ लेने के लिए ये मानदंड या शर्ते निम्‍नलिखित हैं:-

  • सरकार के दिशानिर्देशो के अनुसार कामकाजी बच्‍चों कि पहचान श्रम विभाग के अधिकारियों के द्वारा सर्वेक्षेंण में चिन्हित होने से की जाएगी।
  • इसके अलावा ग्राम पंचायत, स्‍थानीय निकायों के अधिशासी, चाइल्‍ड लाइन व विद्यालय प्रबंधन समिति द्वारा किया जाएगा।
  • जिन बच्‍चों के माता पिता किसी असाध्‍य बीमारी से पीडित हो उन्‍हें भी इसका लाभ दिया जाएगा।
  • गंभीर बीमारी के संबंध में मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी की ओर से जारी प्रमाण पत्र देना होगा।
  • जिन परिवारो के पास भूमि नही हैं व महिला प्रमुख परिवारो के चयन के लिए जनगणना 2011 के अर्न्‍तगत सामाजिक व आर्थिक जाति की जनगणना सूची का इस्‍तेमाल किया जाएगा।
  • चयन की स्‍वीकृति मिलने पर प्रत्‍येंक लाभार्थी को ई – ट्रैंकिग सिस्‍टम पर अपलोड किया जाएगा।

Bal Shramik Vidya Yojana के लाभ

इस योजना से अनेक लाभ होगे जो निम्‍नलिखित हैं :-

  • सबसे बडा लाभ तो यह होगा का श्रमिक बच्‍चों को भी पढने का मौका मिलेंगा।
  • कई बच्‍चें पढना चाहते हुए भी आर्थिक कारणो से नही पढ पाते अब उन्‍हें भी पढाई करने का अवसर मिलेगा।
  • इससे बाल श्रम जिसे रोकने के लिए सरकार ने कानून भी बनाए हूए हैं उसमें कमी आएगी।
  • शिक्षा प्राप्‍त कर इनमें से बहुत से बच्‍चें आगे निकल सकेगे।
  • जिससे वो शिक्षा से कोई अच्‍छा रोजगार ढूँढ सकेगे।
  • आर्थिक सहायता मिलने पर वो अच्‍छी शिक्षा प्राप्‍त कर सकेगे।

बाल श्रमिक विद्या योजना के महत्‍वपूर्ण तथ्‍य

Bal Shramik Vidya Yojana में कुछ महत्‍वपूर्ण बिन्‍दु हैं जिन्‍हें हम यहा देखेगे।

  • योजना के तहत उत्‍तरप्रदेंश के 57 जिलो जिनमें सर्वाधिक बाल श्रमिक हैं उन्‍हें लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के प्रथम चरण में 2000 बच्‍चों को लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना से पहले श्रम विभाग ने बाल श्रमिको के लिए ”ट्रांसफर योजना” चला रखी थी।
  • जिसके तहत बाल श्रमिको को प्रतिवर्ष 8000 रूपए व 100 रूपए प्रतिमाह छात्रवृति प्रदान की जाती थी।
  • उत्‍तरप्रदेंश सरकार ने इस योजना का नाम बदलकर ”बाल श्रमिक विद्या योजना” ( BSBY) रख दिया हैं।
  • इस योजना के तहत अब इन बाल श्रमिक बच्‍चों को जो 8, 9 व 10वीं कक्षा उतीर्ण करेगे उन्‍हे 6000 रूपए की प्रोत्‍साहन राशि प्रदान की जाएगी।
  • इसके तहत लडकी को 1200 रूपए प्रतिमाह व लडके को 1000 रूपए प्रतिमाह राशि प्रदान की जाएगी।

Bal Shramik Vidya Yojana का शुभारम्‍भ उत्‍तरप्रदेंश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ जी ने किया हैं। इससे बाल श्रमिक बच्‍चों को भी अब शिक्षा मिल सकेगी।

सरकारी योजनाओं के बारें में जानने के लिए यहा देंखे

यह भी पढें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here